Telegram Group Join Now

Whatsapp Group Join Now

UP Shikshak Bharti Latest News: उत्तर प्रदेश में शिक्षक भर्ती के नियमों में हुआ बड़ा बदलाव, देंखे नियमावली 2023

UP Shikshak Bharti Latest News: उत्तर प्रदेश में शिक्षक भर्ती के लिए नए नियमों की शुरुआत करके महत्वपूर्ण परिवर्तन किए गए है। यूपी शिक्षक भर्ती को एकीकृत करते हुए प्रक्रिया को सुव्यवस्थित बनाने के लिए शिक्षा सेवा चयन आयोग ने नियमों में बदलाव किये है। उत्तर प्रदेश शिक्षा सेवा चयन आयोग ने नए नियम बनाए हैं जो चयन प्रक्रिया में लिखित परीक्षा और साक्षात्कार दोनों के महत्व पर जोर देते हैं।

उत्तर प्रदेश शिक्षा सेवा चयन आयोग नियमावली 2023 pdf का लिंक निचे दिया गया है जिसे डाउनलोड कर सम्पूर्ण जानकारी देख सकते है।

UP Shikshak Bharti Latest News

Table of Contents

व्यापक भर्ती दायरा

आयोग की ज़िम्मेदारियाँ शिक्षा के सभी क्षेत्रों में फैली हुई हैं, जिसमें बुनियादी, माध्यमिक और उच्च शिक्षा के साथ-साथ व्यावसायिक शिक्षा के प्रशिक्षक भी शामिल हैं।

Check Also :- UP Home Guard Bharti 2023-24

UP Shikshak Bharti: अल्पसंख्यक संस्थानों के लिए अलग विशेषज्ञ पैनल

up teacher vacancy latest news in Hindi एक समर्पित विशेषज्ञ पैनल अल्पसंख्यक शैक्षणिक संस्थानों के लिए पूरी भर्ती प्रक्रिया की निगरानी करेगा। अल्पसंख्यक महाविद्यालयों की विशिष्ट आवश्यकताओं को पहचानते हुए आयोग शिक्षकों के चयन के लिए अलग से विज्ञापन जारी करेगा।

यूपी शिक्षक भर्ती: समय सीमा और जवाबदेही

दक्षता सुनिश्चित करने के लिए, नियम निर्दिष्ट करते हैं कि यदि विज्ञापन जारी होने के तीन साल के भीतर चयन प्रक्रिया शुरू नहीं होती है, तो विज्ञापन रद्द किया जा सकता है।

UP Shikshak Bharti परीक्षा की जानकारी

शिक्षकों और प्रशिक्षकों की भर्ती के लिए दो घंटे की लिखित परीक्षा आयोजित की जाएगी,

जिसमें वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न होंगे। ये परीक्षाएं जिला मुख्यालयों पर होंगी, जिससे राज्य भर के उम्मीदवारों को सुविधा मिलेगी।

इसके अतिरिक्त, डिग्री कॉलेजों में प्राचार्यों और सहायक प्रोफेसरों की भर्ती प्रक्रिया में लिखित परीक्षा और साक्षात्कार दोनों शामिल होंगे।

शैक्षिक गुणांक में परिवर्तन

शैक्षिक गुणांक की गणना के लिए हाईस्कूल, इंटरमीडिएट, स्नातक, बीएड और बीटीसी के अंक जोड़ने के दिन गए।

योग्यता और प्रदर्शन को प्राथमिकता देते हुए अब योग्यता-आधारित चयन प्रक्रिया पर जोर दिया जा रहा है।

क्या होगी UP Shikshak Bharti के लिए चयन प्रक्रिया?

उत्तर प्रदेश शिक्षा सेवा चयन आयोग ने राज्य में योग्य शिक्षकों और प्रशिक्षकों के लिए निष्पक्ष और पारदर्शी चयन प्रक्रिया की गारंटी प्राथमिक उद्देश्य रखा है। पक्षपात को खत्म करने और योग्यता-आधारित चयन सुनिश्चित करने पर विशेष ध्यान देने के साथ, सरकार ने ऐसे नियम जारी किए हैं जो शिक्षक भर्ती परिदृश्य को फिर से परिभाषित करते हैं।

  • अब शिक्षकों का चयन लिखित परीक्षा और साक्षात्कार के संयोजन पर आधारित होगा।
  • दी गई जानकारी के अनुसार 90% अंक परीक्षा के लिए रखे गए है।
  • और शेष 10% साक्षात्कार के लिए आवंटित किए गए हैं।

लिखित परीक्षाओं के आधार पर साक्षात्कार के लिए आमंत्रित उम्मीदवारों को न्यूनतम 40 प्रतिशत अंक प्राप्त करने होंगे।

अर्थात् अनिवार्य 40 प्रतिशत और अधिकतम 90 प्रतिशत अंक निर्धारित किए गए है।

समान योग्यता वाले मामलों में विचार

ऐसे मामलों में जहां लिखित परीक्षा और साक्षात्कार में अंक समान हैं, जेआरएफ, नेट, पीएचडी जैसी अनिवार्य योग्यता में उम्मीदवार के प्रतिशत पर विचार किया जाएगा। यदि समानता बनी रहे तो स्नातकोत्तर अंक निर्णायक कारक बन जाते हैं।

इसके अलावा, यदि सभी पहलू समान हैं, तो उम्मीदवार की उम्र विभेदक बन जाती है, जिससे अधिक उम्र के उम्मीदवार को प्राथमिकता दी जाती है।

उत्तर प्रदेश शिक्षा सेवा चयन आयोग नियमावली 2023 pdf

UP Shikshak Bharti नियमावली 2023 pdf डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें

FAQs

उत्तर: साक्षात्कार में 10% वेटेज होता है, शेष 90% लिखित परीक्षा को दिया जाता है।

उत्तर: ऐसे मामलों में, भर्ती के लिए विज्ञापन रद्द किया जा सकता है।

उत्तर: हां, शिक्षा सेवा चयन आयोग अल्पसंख्यक महाविद्यालयों में शिक्षकों के लिए अलग से विज्ञापन जारी करता है।

उत्तर: शिक्षकों और प्रशिक्षकों के लिए लिखित परीक्षा दो घंटे तक चलती है।

Whatsapp Group Join Now

Telegram Group Join Now

Leave a Comment

DMCA.com Protection Status